Posts

Featured post

हरियाली तीज 2020

2020 हरियाली तीज तीज का त्यौहार मुख्यतः उत्तर भारतीय महिलाओं द्वारा धूमधाम से मनाया जाता है। तीज मुख्यतः राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखण्ड में मनाई जाती है। सावन (श्रावण) और भादव (भाद्रपद) के मास में आने वाली तीन प्रमुख तीज निम्न हैं: हरियाली तीजकजरी तीजहरतालिका तीज

उपरोक्त तिजों के अतिरिक्त अन्य प्रमुख तीज निम्न है- आखा तीज, जिसे अक्षय तृतीया भी कहते है और गणगौर तृतीया (गणगौर) है। हरियाली तीज, कजरी तीज व हरतालिका तीज श्रावण व भाद्रपद महीनों में आने के कारण अपना एक विशिष्ट महत्त्व रखती हैं। वर्षा ऋतू में आने के कारण तीज के इन त्यौहारों का महत्त्व महिलाओं के लिए और भी अधिक बढ़ जाता है। हरियाली तीज आमतौर पर नाग पंचमी के दो दिन पूर्व यानि श्रावण माह की शुक्ल पक्ष तृतीया को आती है। यह तीज भगवान शिव व माता पार्वती को समर्पित है। हरियाली तीज श्रावण माह में आती है, जो भगवान शिव व माता पार्वती की आराधना व उन्हें समर्पित उपवास करने के लिए अत्यंत पवित्र महीना माना गया है। हरियाली तीज का त्यौहार भगवान शिव व माता पार्वती के पुनर्मिलन का प्रतिक है। इस दिन महिलाएं माता पार्वती की…

आज शारदीय नवरात्रि 2020 का सातवां दिन : माता कालरात्रि आपको कर देंगी हर शत्रुबाधा से मुक्त

आज का राशिफल : आज मेष, मिथुन, सिंह, मकर व मीन को मिल सकते हैं शुभ समाचार, जानें आपके लिए आज ​के दिन में क्या है खास?

जब मन अशांत हो तो कुछ समय मौन रहकर हालात समझें और फिर निर्णय लें, मन को मिल सकती है शांति

Video Rashifal : कर्क, सिंह, तुला ,वृश्चिक व मीन को होगा लाभ, जानें क्या कहती है आपकी राशि

खुद को माफ करने से पहले ये जान लें कि आखिर हमने किया क्या था, किसी और को दोष देने से बचें

व्रत-उपवास नहीं कर पा रहे हैं तो छोटी कन्याओं के शिक्षा के लिए करें धन का दान, अष्टमी और नवमी पर भेंट में दें नए कपड़े

23 अक्टूबर से कन्या राशि में रहेगा शुक्र, देश की अर्थव्यवस्था और 8 राशियों के लिए शुभ

आयुर्वेद कहता है 100 फीसदी बैक्टीरिया फ्री होते हैं चांदी के बर्तन, ग्रंथों में इसे बताया है पवित्र धातु

दुर्गाअष्टमी 24 को; नवमी और विजयादशमी 25 अक्टूबर को, दशहरे पर रहेगा खरीदारी का अबूझ मुहूर्त

घर में टूटी-फूटी चीजें रखने से बचना चाहिए, मंदिर में देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां भी न रखें

मेष से मीन तक, सभी 12 राशियों के लिए कैसा रहेगा 22 अक्टूबर का दिन

3 शुभ योगों के कारण कुंभ सहित 6 राशि वालों को हो सकता है धन लाभ

माता कात्यायनी की उपासना से रोग, भय और संताप का होगा नाश

2020 शारदीय नवरात्रि का आज छठवां दिन : माता कात्यायनी रोग, शोक, संताप और भय को करती हैं नष्ट, विवाह का भी देती ​हैं वरदान

सकारात्मक सोच के साथ ही बड़ी सफलता मिल सकती है, अच्छे लोगों के साथ रहने से दूर होती है नकारात्मकता