अब भस्म आरती के दर्शन नहीं कर पाएंगे भक्त, 1 महीने पहले की गई बुकिंग हुई कैंसिल

जहां दुनिया भर में कोरोना वायरस ने अपने पैर पसार लिये हैं। कोरोना वायरस ने अब देश में भी कई लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। कोरोना का असर अब मंदिरों में भी देखने को मिल रहा है। उज्जैन में स्थित महाकाल मंदिर में भी कोरोना वायरस के चलते कुछ परिवर्तन किये गये हैं।

महाकाल मंदिर समिति ने कोरोना वायरस के डर से भस्म आरती में आम व वीआईपी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी है। उनके अनुसार अब सिर्फ पुजारी और पुरोहित ही मंदिर की भस्म आरती करेंगे। इसके साथ ही जिन लोगों ने भस्म आरती के लिये 1 महीने पहले बुकिंग करवाई थी उनकी बुकिंग भी कैंसिल कर दी गई है। जिसकी सूचना श्रृद्धालुओं को एसएमएस द्वारा दी गई है।

mahakal_mandir11.jpg

मंदिर समिति व पुरोहित ने संयुक्त बैठक में लिया फैसला

भस्म आरती के बाद श्रृ्धालु सिर्फ भगवान के दूर से दर्शन कर पाएंगे और वो भी चलायमान रहेंगे। मंदिर प्रांगण में किसी को बैठने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलाव भस्त आरती के साथ-साथ मंदिर प्रांगण में भी अन्य स्थानों पर भी अधिक भीड़ ना हो इसका भी निर्णय लिया गया है। मंदिर में हुए बदलाव को लेकर मंदिर समिति प्रशासक ने बताया की कोरोना वायरस से बचाव के लिये मंदिर के पुजारी ने संयुक्त रूप से बैठक में यह निर्णय लिये गये हैं।

 

mahakal_mandir1.jpg

बाबा महाकाल मंदिर में होने वाली भस्म आरती का समय

प्रथम आरती भस्मआरती सुबह 04:00 से 06:00 बजे तक
द्वितीय आरती द्योदक सुबह 07:30 से 08:15 बजे तक
तृतीय भोग आरती सुबह 10:30 से 11:15 बजे तक
चतुर्थ संध्याकालीन पूजन सायं 05:00 से 05:45 बजे तक
पंचम संध्या आरती सायं 06:30 से 07:15 बजे तक
शयन आरती रात्रि 10:30 से 11:00 बजे तक

बताया गया है कि अब इस आरती में आम के साथ ही वीआईपी श्रद्धालुओं को भी इस दौरान प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा गर्भगृह में सामान्य दर्शन भी बंद कर दिए गए हैं। आरती में केवल पुजारी ही मौजूद रहेंगे।



source https://www.patrika.com/temples/bhasm-aarti-darshan-timings-bhasm-aarti-darshan-cancel-due-to-corona-5899026/

Comments