25 दिन के लिए बुध हुए अस्त, जानिये राशियों पर असर

आकाश में ग्रहों की चाल के बीच जहां एक ओर जानकारों का मानना है कि इन्हीं ग्रहों (शनि, केतु व राहु) की चाल के चलते कोरोना का कहर विश्व में फैला है। वहीं इसी बीच बुध ग्रह करीब एक माह के लिए अस्त हो गया है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार 19 अप्रैल को सुबह 04 बजकर 51 मिनट पर बुध अस्त हो गया है। बुध ग्रह की यह स्थिति 13 मई तक बनी रहेगी। वहीं 25 अप्रैल 2020 ,शनिवार को प्रातः 2:26 बजे (24 अप्रैल 2020 की रात्रि) मीन राशि से निकल कर मंगल की मेष राशि में प्रवेश करेगा और 9 मई 2020 तक इसी राशि में स्थित रहेगा।

ज्योतिष में बुध ग्रह बुद्धि का कारक माना गया है। इसके कारक देव श्रीगणेश हैं, वहीं इसका रंग हरा व रत्न पन्ना माना जाता है। इसके अलावा बुध के संबंध में ये भी मान्यता है कि ये जिन भी ग्रहों की दृष्टि में रहता है, उनके स्वभाव के अनुसार ही फल देता है।

MUST READ : बुधवार है श्रीगणेश का वार- गणेश भक्तों के संपूर्ण तीर्थ हैं ये मंदिर

https://www.patrika.com/temples/most-famous-ancient-lord-ganesha-temples-in-india-6023345/

इसके अलावा यह संवाद, वाणी, बुद्धि, व्यापार और लेखन के क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करता है। बुध ग्रह का अस्त होने का सबसे ज्यादा असर व्यापार में होता है।

बुध ग्रह के अस्त होने पर इसके कारकत्वों में कमी आने लगती है। ऐसे में बुध के फल देने की क्षमता कुछ समय के लिए कमजोर पड़ जाती है। जिसका असर जातकों के जीवन पर पड़ने लगता है। बुध ग्रह के अस्त होने पर सभी राशियों पर प्रभाव पड़ेगा।

MUST READ : एक मंत्र जो है श्रीकृष्ण लीला का सार, इसका पाठ करने से मिलता है संपूर्ण भागवत का आशीर्वाद

https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/one-mantra-of-shri-krishan-leela-gives-blessings-of-full-bhagwat-6009870/

जानिए अस्त बुध ग्रह का क्या पड़ेगा प्रभाव…

1- मेष राशि : बुध के अस्त होने से आपकी व्यापार पर गहरा असर पड़ेगा। क्योंकि बिजनेस बुध ग्रह के अधीन होता है। आपको बुध की अस्त अवस्था में व्यापार में कई उतार चढ़ाव देखने को मिलेंगे।

2- वृषभ राशि : आपकी व्यक्तिगत समस्याओं का निदान होगा। आपके मानसिक तनाव दूर होंगे। आप अपनी मधुर वाणी के कारण सफलता प्राप्त कर पायेंगे। नए मित्र बनेंगे।

3- मिथुन राशि : आप इस समय काफी संवेदनशील रहेंगे। पुराने साथी के साथ संबंध फिर मधुर होंगे। कामकाजी जीवन में आपको अपनी वाणी पर संयम बरतना होगा।

4- राशि कर्क : बुध ग्रह मुख्य रूप से हमारी संवाद शैली को दर्शाता है। इसी कारण जब बुध अस्त होता है तो व्यापार से संबंधित कार्यों पर इसका गहरा असर पड़ता है। आपको व्यापार में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। बिजनेस पार्टनर के साथ संबंध बिगड़ सकते हैं।

5- सिंह राशि : आपकी आर्थिक स्थिति पहले से बेहतर रहेगी। आपको अपने दोस्तों का साथ मिलेगा। आप अपने बोलने के तरीके से बिजनेस में सभी को इंप्रेस कर सकेंगे। लव पार्टनर के साथ किसी न किसी बात पर विवाद होते रहेंगे।

MUST READ : ग्रह दोषों को दूर करने का ये है सबसे आसान उपाय! बस एक बार करें इसका प्रयोग

https://www.patrika.com/bhopal-news/how-to-removes-all-type-of-grahdosh-in-hindi-4493272/

6- कन्या राशि : बुध के अस्त होने से आपकी करियर और लव लाइफ दोनों ही प्रभावित होगी। आपको इन दोनों को संभालने के लिए कठिन प्रयास करने पड़ेंगे। आपके बोलने का तरीका आपका अहित कर सकता है।

7- तुला राशि : चंद्रमा के अस्त होने से आपके जीवन में शांति रहेगी। पारिवारिक कलैश खत्म होंगे। आप करियर में कुछ नया करने की सोच सकते हैं। नौकरी में परिवर्तन के प्रबल आसार हैं।

8- वृश्चिक राशि : आपको किस्मत का साथ मिलेगा। नये रिश्ते की शुरुआत होगी। पढ़ाई में ज्यादा मन लगेगा। लेकिन करियर में बिना मेहनत के सफलता प्राप्त नहीं हो पायेगी।

9- धनु राशि : आपको करियर में सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। लव पार्टनर के साथ किसी न किसी बात पर झगड़ा होता रहेगा।

10- मकर राशि : अस्त बुध आपकी लाइफ के कष्ट बढ़ा सकता है। खासकर करियर में आपको अपने दुश्मनों से सतर्क रहने की जरूरत पड़ेगी। किसी के उकसावे में आकर कोई गलत कदम न उठा लें।

MUST READ : शनि का सबसे आसान उपाय, जो पॉजीटिविटी बढ़ाने के साथ ही निगेटिविटी का असर करता है कम

https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/easiest-solution-of-saturn-problem-in-astrology-6006912/

11- कुंभ राशि : आपको लाभ कमाने के कई अवसर प्राप्त होंगे। लेकिन वाणी पर नियंत्रण रखना होगा नहीं तो आप अपने काम बिगाड़ सकते हैं। प्रेम जीवन संतोषजनक रहेगा।

12- मीन राशि : आपके रूके हुए काम पूरे होंगे। आपको अपने बोलने के तरीके में मधुरता लाने की जरूरत है। पार्टनर की जरूरतों का ख्याल रखेंगे।

जानें कैसे अस्त होता है कोई ग्रह
सूर्य हमारे आकाश मंडल का केंद्र माना जाता है। जब कोई ग्रह चक्कर काटते हुए सूर्य से एक निश्चित दूरी पर आ जाता है तो सूर्य के तेज प्रभाव से उस ग्रह का खुद की चमक यानी आभा को वह खो देता है जिस कारण से वह ग्रह कुछ समय के लिए दिखाई नहीं देता। ज्योतिषशास्त्र में इस प्रक्रिया को ग्रह का अस्त होना माना जाता है।



source https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/mercury-become-setdown-effect-on-you-6024432/

Comments