विनायक चतुर्थी 27 अप्रैलः ऐसे करें विघ्नहर्ता गणराज की मंगल पूजा

सोमवार 27 अप्रैल 2020 को वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है, जिसे विनायक चतुर्थी कहा जाता है। इस दिन प्रथम पूजनीय भगवान श्री गणेश जी के पूजन का विशेष महत्व माना जाता है। विनायक चतुर्थी को व्रत रखकर की गई पूजा से गणेश जी प्रसन्न होकर सभी कामनाएं निर्विघ्न पूर्ण होने का आशीर्वाद देते हैं।

OMG! इस समाज में विवाह के 24 घंटे बाद ही विधवा हो जाती है दुल्हन

इस दिन ऐसे प्रसन्न करें श्री गणेश को-

27 अप्रैल सोमवार को विनायक चतुर्थी के दिन विशेष षोडशोपचार पूजन करने के बाद "ऊँ गं गणपतये नमः" इस मंत्र का 108 बार जप करने के बाद नीचे दिये गये सरल उपायों में से किसी एक को भी श्रद्धापूर्वक करने से गणेश जी प्रसन्न होकर सभी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं।

विनायक चतुर्थी 27 अप्रैलः ऐसे करें विघ्नहर्ता गणराज की मंगल पूजा

श्री गणेश पूजा विधि

1- विनायक चतुर्थी के दिन जीवन की परेशानियों को दूर करने के लिए हाथी को हरा चारा खिलाएं और गणेश मंदिर जाकर अपनी परेशानियों का निदान करने के लिए प्रार्थना करें। इससे आपके जीवन की परेशानियां कुछ ही दिनों में दूर हो जायेगी।

2- यंत्र शास्त्र के अनुसार, गणेश यंत्र बहुत ही चमत्कारी यंत्र है। विनायक चतुर्थी के दिन अपने घर में इसकी स्थापना करें। इस यंत्र की स्थापना व पूजन से बहुत लाभ होता है। इस यंत्र के घर में रहने से किसी भी प्रकार की बुरी शक्ति घर में प्रवेश नहीं करती।

विनायक चतुर्थी 27 अप्रैलः ऐसे करें विघ्नहर्ता गणराज की मंगल पूजा

3- गणेश विनायक चतुर्थी के दिन श्रीगणेश जी का शुद्ध जल से अभिषेक करें। साथ ही गणपति अथर्व शीर्ष का पाठ भी करने के बाद मावे के लड्डुओं का भोग लगाकर गणेश भक्तों में बांट दें।

4- विनायक चतुर्थी पर पीले रंग की गणेश प्रतिमा अपने घर में स्थापित कर पूजा करें। पूजा में श्रीगणेश को हल्दी की पांच गठान इस मंत्र- "श्री गणाधिपतये नम:" मंत्र का उच्चारण करते हुए चढ़ाएं। इसके बाद 108 दूर्वा पर गीली हल्दी लगाकर "श्री गजवकत्रम नमो नम:" मंत्र का जप करके चढ़ाएं। यह उपाय लगातार 10 दिन तक करने से नौकरी में प्रमोशन होने की संभावनाएं बढ़ सकती है।

विनायक चतुर्थी 27 अप्रैलः ऐसे करें विघ्नहर्ता गणराज की मंगल पूजा

ऐसे करें पूजन-

1- दोपहर को विनायक चतुर्थी पूजन के लिऐ पहले स्नान करना चाहिए ।

2- अपने घर के पूजा स्थल में पूजन करें।

3- इस दिन ताजी दुर्वा ही गणेश जी अर्पित करें।

4- मोदक का ही भोग लगावें।

5- गणेश जी को अष्टगंध का ही तिलक लगावें।

6- ऊँ गं गणपते नमः मंत्र का जप 108 बार करें।

7- पूजा में मिट्टी के गणेश जी सबसे उत्तम माने जाते हैं।

8- विनायक चतुर्थी के दिन गणेश जी को सफेद या गुलाबी फूलों की माला ही पहनाना चाहिए।

***************



source https://www.patrika.com/festivals/vinayak-chaturthi-ganesh-poojan-vidhi-monday-27-april-2020-6039890/

Comments