शनि जयंती 2020 : जानें इस बार शनिदेव की पूजा विधि और नियम

इस साल 2020 में न्याय के देवता माने जाने वाले शनिदेव की जयंती शुक्रवार 22 मई को कई शुभ संयोग के साथ मनाई जाएगी। शनि जयंती का पर्व हर साल ज्येष्ठ महीने की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है। इस दिन शनिदेव का पूजन अर्चन करने, उनके मंत्रों का जप, उनके निमित्त दान आदि करने से अनेक समस्याओं से राहत मिलती है। अगर शनिदेव की कृपा पाना चाहते हैं तो शनि जयंती के दिन इन कामों को करने बचना चाहिए।

मोहिनी एकादशी 2020 : व्रत पूजा विधि व महत्व

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति एक अच्छा जीवन जीता है तो उसको जीवन में तीन बार शनि की दशा से गुजरना पड़ता है। पहली बार शनि व्यक्ति के साथ खेलता है, दूसरी बार उसकी जिन्दगी में भूचाल लाता है, और तीसरी बार उसके सारे धन-दौलत को नष्ट कर देता है। यही कारण है कि लोग शनि को शांत रखने का प्रयास करते रहते हैं।

शनि जयंती 2020 : जानें इस बार शनिदेव की पूजा विधि और नियम

1- शनि जयंती के दिन चांदी के आभूषण खरीदकर किसी को भी उपहार के रूप में नहीं देना चाहिए, ऐसा करने से व्यक्ति कर्जदार बन जाता है।

2- शनि जयंती के दिन सफेद मोती खरीदकर भेट करने से यंत्रों से होने वाली दुर्घटना के योग बनने लगते हैं।

3- शनि जयंती पर तांबे के बर्तनों का दान करने से व्यक्ति को व्यापार में घाटा होने लगता है।

4- शनि जयंती के दिन चांदी, लोहे या फिर स्टील से बनी कैंची खरीदकर उपहार करने से रिश्तों में तनाव आने लगता है।

शनि जयंती 2020 : जानें इस बार शनिदेव की पूजा विधि और नियम

5- शनि जयंती के दिन लाल रंग के कपड़े खरीदकर किसी को उपहार देने पर व्यक्ति की सामाजिक छवि खराब होने लगती है।

6- शनि जयंती के दिन सफेद रंग के कपड़े खरीद कर गिफ्ट करने पर व्यक्ति को पारिवारिक कलह का सामना करना पड़ता है।

7- शनि जयंती के दिन चमेली का इत्र खरीद कर किसी को भेंट करने पर व्यक्ति अनेक रोगों से घिरने लगता है।

8- शनि जयंती के दिन किसी दूसरे के जूते-चप्पल नहीं पहनना चाहिए।

9- शनि जयंती के दिन किसी को भी बिना वहज परेशान नहीं करना चाहिए और न ही झूठ बोलकर अपने कार्य सिद्ध करना चाहिए।

************



source https://www.patrika.com/festivals/shani-jayanti-22-april-2020-6056574/

Comments