शनिवार शाम पीपल पेड़ के नीचे बैठकर करें इस मंत्र का इतना जप, सप्ताह भर में दिखेंगे चमत्कार

शास्त्रोंक्त मान्यता है कि पीपल के पेड़ में साक्षात नारायण का वास होता है। कहा ये भी जाता है कि नारायण के अलावा कई देवी-देवता एवं हमारे पूर्वज पित्रों की दिव्य आत्माएं भी पीपल पेड़ में निवास करती है। इसीलिए हिंदू धर्म में पीपल पेड़ की पूजा देव वृक्ष मानकर की जाती है। अगर कोई शनिवार के दिन सूर्यास्त के समय से लकर रात 8 बजे तक पीपल पूजा करने के बाद इस मंत्र का जप करता है उसकी सभी कामनाएं पूरी होकर रहती है।

जानें हनुमान जी के अष्टसिद्ध- दायक कामना पूर्ति अष्ट रूपों की महिमा

ऐसे करें उपाय

शनिवार के दिन सूर्यास्त के तुरंत बाद किसी भी पुराने पीपल पेड़ के पास जाएं। अपने साथ में थोड़ी सी लाल स्याही या पेन, थोड़ा सा लाल कपड़ा एवं लाल कलावा (मौला-नाड़ा) लेकर जाए। अपने साथ एक आटे का दीपक जिसमें गाय का घी हो लेकर जाएं। सबसे पहले पीपल वृक्ष के आटे का दीपक जला दें। अब पहले एक बार श्री हनुमान चालीसा का पाठ कर लें।

शनिवार शाम पीपल पेड़ के नीचे बैठकर करें इस मंत्र का इतना जप, सप्ताह भर में दिखेंगे चमत्कार

चालीसा का पाठ पूरा होने के बाद पीपल पेड़ में ही लगे पीपल के एक बड़े पत्ते पर लिख दें अपनी मनोकामना लिखकर पत्ते वाली डाली पर 7 बार एक लाल कलावा भी बांध दे। लाल कलावा को एकदम ठीला बांधना है। पत्ते को डाल से तोड़ना नहीं है। पत्ते वाली डाली पर कलावा बांधने के बाद एक बड़ा लाल कलावा 7 बार अपने हाथ में भी बांध लें।

शनिवार को इस शनि स्तुति का पाठ करता है हर पल रक्षा

अब वहीं पीपल पेड़ के नीचे बैठकर लें इस मनोकामना पूर्ति मंत्र का जप 3 माला करें।

इस मंत्र का जप करें

मंत्र- ।। ऊँ हृी वट स्वाहा ।।

शनि जयंती 2020 : जानें इस बार शनिदेव की पूजा विधि और नियम

उपर दी गई विधि के पूरा होने के बाद पीपल के पेड़ के नीचे की एक चुटकी मिट्टी को लाल कपड़े में लपेट कर अपने घर लेकर आ जावें और उसे घर की तिजोरी में या धन रखने के स्थान पर रख दें। इस उपाय को करने से सप्ताह भर में पूरी होने लगती है।

**********



source https://www.patrika.com/dharma-karma/pipal-puja-upay-for-shaniwar-in-hindi-6058828/

Comments