धारा 144 लगाकर निकलेगी रथयात्रा, शामिल होने वाले पुजारी और पुलिसकर्मियों को रहना होगा होम क्वारैंटाइन

उड़ीसा के पुरी में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा को लेकर स्थितियां साफ होती जा रही हैं। केंद्र सरकार ने रथयात्रा निकालने और उसका स्वरूप तय करने के मामले में फैसला राज्य सरकार पर छोड़ दिया है। श्री जगन्नाथ मंदिर समिति रथयात्रा के स्वरूप और नियमों को तय करने में जुटी है। इस बार भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा बिना श्रद्धालुओं के ही निकलना लगभग तय है। मंदिर समिति ने तय किया है कि रथयात्रा में सीमित संख्या में पुजारी, प्रशासनिक अधिकारी और पुलिसकर्मी मौजूद रहेंगे।

जो पुजारी और पुलिसकर्मी रथयात्रा में शामिल होंगे उन्हें कोरोना टेस्ट के बाद लगभग 10 से 12 दिन होम क्वारैंटाइन रहना होगा। पुरी में बाहरी लोगों का प्रवेश रोकने के लिए रास्ते बंद किए जाएंगे और धारा 144 लगाई जाएगी। 23 जून को रथयात्रा निकलेगी और गुंडिचा मंदिर जाएगी। 7दिन भगवान यहीं रहेंगे। गुंडिचा मंदिर में भी सारी परंपराएं बिना भीड़ के ही निभाई जाएंगी। यहां भी 7 से 9दिन तक धारा 144 लगी रहेगी।

मंदिर के पुजारी और श्री मंदिर समिति के सदस्य पं. श्याम महापात्रा के मुताबिक जल्दी ही यात्रा में शामिल होने वाले पुलिसकर्मियों और पुजारियों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा। फिर सभी को होम क्वारैंटाइन किया जाएगा। बाहरी जिलों से भी लोगों के आने पर रोक रहेगी। रथयात्रा से जुड़ी सारी परंपराएं मंदिर के भीतर ही की जाएंगी। गुंडिचा मंदिर पहुंचने के बाद भी मंदिर में प्रवेश पर रोक रहेगी। वहां दर्शन की अनुमति नहीं होगी। और इसके बाद बहुदा यात्रा यानी भगवान की वापसी भी ऐसी ही रहेगी।

  • केरल से आती हैं रथ को खींचने वाली रस्सियां

जिन रस्सियों से भगवान जगन्नाथ का रथ खींचा जाता है, वे केरल से बनकर आती हैं। हालांकि, कुछ समय से उड़ीसा में भी इनकी बनवाई शुरू हुई है लेकिन मूल रस्सियां आज भी केरल से आती हैं। ये नारियल से बनी होती हैं और इन्हें विशेष तरीके से तैयार किया जाता है। रथों को बांधने और खींचने में कोई समस्या ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाता है। ये रस्सियां भी पुरी मंदिर में पहुंच चुकी हैं।

  • युद्ध स्तर पर चल रहा है रथों के निर्माण का काम

रथों के निर्माण का काम भी युद्ध स्तर पर चल रहा है। रथों के बेस और पहिए आदि बनकर तैयार हो चुके हैं। सजावट के सामान भी तैयार हो रहे हैं। 3-4 अलग-अलग स्तरों पर मंदिर में रथ निर्माण चल रहा है। डेढ़ से ज्यादा कारीगर इस काम में लगे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Rath yatra 2020 Jagannath Puri temple will come out by imposing Section 144, priests and policemen joining will have to stay home quarantine


Comments