1 जुलाई को देवशयनी एकादशी से शुरू हो रहा है चातुर्मास; भगवान विष्णु करेंगे विश्राम, खानपान का रखना होगा ध्यान, शिव-विष्णु की पूजा करें

2020 के सातवें माह जुलाई की शुरुआत देवशयनी एकादशी से हो रही है। आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को हरिशयनी या देवशयनी एकादशी कहते हैं।इसी तिथि से यानी 1 जुलाई से चातुर्मास भी शुरू हो जाएगा। इस साल चातुर्मास चार नहीं पांच माह का रहेगा, क्योंकि इस बार आश्विन मास का अधिकमास रहेगा। 25 नवंबर को देवप्रबोधनी एकादशी रहेगी।
उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार चातुर्मास में पूजा और ध्यान करने का विशेष महत्व है। देवशयनी एकादशी से देवप्रबोधनी एकादशी तक भगवान विष्णु विश्राम करेंगे। इस दौरान शिवजी सृष्टि का संचालन करेंगे। इन दिनों में शिवजी और विष्णुजी की पूजा करनी चाहिए। इन देवताओं के मंत्रों का जाप करें। विष्णु मंत्र ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय और शिव मंत्र ऊँ नम: शिवाय का जाप कर सकते हैं।

5 माह का रहेगा चातुर्मास

इस साल आश्विन मास का अधिकमास रहेगा। इस कारण चातुर्मास चार नहीं पांच माह का होगा। अधिकमास को पुरुषोत्म मास भी कहते हैं। इन दिनों में भागवत कथा सुनने, ध्यान करने का विशेष महत्व है। जरूरतमंद लोगों को धन और अनाज का दान करें।

खान-पान का रखें विशेष ध्यान

ये समय वर्षा ऋतु का रहता है। इस कारण बादलों की वजह से सूर्य की रोशनी हम तक नहीं पहुंच पाती है। सूर्य की रोशनी के बिना हमारी पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। ऐसी स्थिति में खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। खाने में ऐसी चीजें शामिल करें जो सुपाच्य हों। अन्यथा पेट से संबंधित बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Devshayani Ekadashi on 1 July; Lord Vishnu will rest, worship Shiva-Vishnu, chaturmaas 2020, lord vishnu and puja path


Comments