मंदिरों में दर्शन के वक्त आपस में रखनी चाहिए दूरी, फोटोग्राफी से भी बचें

मंदिरों में दर्शन करते हुए कुछ लोग गलतियां कर देते हैं जिससे उनको पूजा का फल पूरा नहीं मिल पाता है। काशी के धर्मशास्त्र के जानकार पं. गणेश मिश्र ने बताया कि धर्मस्थल पर जाने और पूजा के कई नियम ग्रंथों में बताए गए हैं। उनके अनुसार मंदिर में भी अनुशासन में रहना चाहिए। स्कंद पुराण के अनुसार मंदिर में दर्शन और पूजा के लिए विशेष नियम बताए गए हैं। जिसमें श्रद्धालुओं को उचित दूरी बनाए रखनी चाहिए। एक दूसरे को छूने से बचना चाहिए। जिससे किसी का ध्यान पूजा से न हटें। पं. मिश्र के अनुसार फोटोग्राफी, काले कपड़े और बेल्ट का उपयोग नहीं करना चाहिए। मूर्ति के ठीक सामने खड़े होकर भी दर्शन नहीं करने चाहिए।

1. दूसरों से उचित दूरी रखें और किसी के आगे न खड़े हों
मंदिर में दर्शन और प्रार्थना के लिए जाएं तो आसपास वाले लोगों से थोड़ी दूरी बनाकर रखनी चाहिए। मंदिर में दूसरों के स्पर्श से बचना चाहिए। ऐसा करने पर पूजा से आपका और दूसरों का ध्यान नहीं हटेगा। मंदिर में दर्शन के दौरान किसी के आगे नहीं खड़ा होना चाहिए। न ही किसी के आगे की तरफ से निकलना चाहिए। इसका दोष लगता है।

2. फोटोग्राफी और मनोरंजन से बचना
मंदिर में फोटोग्राफी और किसी भी तरह का मनोरंजन नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से धर्म स्थल की गरिमा और लोगों की श्रद्धा प्रभावित होती है। मानसिक शांति और अपनी गलतियों को सुधारने के लिए लोग मंदिरों में जाते हैं। इसलिए इन चीजों से बचना चाहिए।

3. काले कपड़ों से बचना

मंदिर सकारात्मक ऊर्जा का केंद्र होते हैं। जहां मानसिक शांति मिलती है। काला रंग नकारात्मकता पैदा करता है। इसलिए किसी भी मंदिर में जाते वक्त काले कपड़े नहीं पहनने चाहिए। मंदिर जाते समय सफेद, पीले और हल्के रंग के कपड़े पहनने चाहिए। गहरे नीले रंग के कपड़ों से भी बचना चाहिए।

4. तेज आवाज में बोलने और हंसने से बचें
मंदिरों में भूल से भी आपस में हंसी-मजाक न करें। धर्म स्थल पर मन को एकाग्र रखना चाहिए। तेज आवाज में बोलना भी ठीक नहीं है। ऐसा करने से दूसरों का ध्यान पूजा से हट जाता है। जिससे दोष भी लगता है।

5. उल्टी परिक्रमा न करें
कुछ लोग अज्ञानता के कारण उल्टी परिक्रमा कर लेते हैं। हमेशा परिक्रमा उल्टे हाथ की तरफ से शुरू कर के सीधे हाथ की ओर खत्म करनी चाहिए। इसके अलावा शिवलिंग की आधी परिक्रमा करनी चाहिए।

6. बेल्ट पहनकर न जाएं
मंदिर में कभी बेल्ट पहनकर या चमड़े की चीजें नहीं ले जाना चाहिए। चमड़े को अशुद्ध माना गया है। ऐसा करने से पाप लगता है।

7. मूर्ति के सामने न खड़े रहें

देवी-देवता की मूर्ति के सामने खड़ा होना गलत है। क्योंकि भगवान की मूर्ति से निकलने वाली तेज ऊर्जा मानव शरीर सहन नहीं कर पाता।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Rules to visit the temple, what to do and not to do in temples


Comments