घर के बाहर रंगोली बनाने की परंपरा, इससे बढ़ती है सकारात्मकता और पवित्रता, वास्तु दोष दूर करने के लिए आंगन में लगाना चाहिए तुलसी

वास्तु शास्त्र में घर में रखी सभी वस्तुओं के लिए शुभ-अशुभ दिशाएं बताई गई हैं। जिन घरों में वास्तु के नियमों का पालन किया जाता है, वहां सकारात्मकता बनी रहती है। अगर घर में वास्तु दोष रहते हैं तो वहां रहने वाले लोगों को नकारात्मकता का सामना करना पड़ता है। मानसिक तनाव बढ़ता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य और वास्तु विशेषज्ञ पं. मनीष शर्मा के अनुसार जानिए कुछ खास टिप्स, जिनसे घर के दोष दूर हो सकते हैं...

घर के बाहर रंगोली बनाने की परंपरा

रोज सुबह-सुबह घर के अंदर और बाहर अच्छी तरह सफाई करें। मुख्य द्वार के बाहर सुंदर रंगोली बनानी चाहिए। रंगोली को बहुत ही शुभ माना जाता है और इससे हमारे घर की ओर सकारात्मकता आकर्षित होती है। रंगोली बनाने की परंपरा पुराने समय से चली आ रही है। आमतौर पर लोग दीपावली पर ही घर के बाहर रंगोली बनाते हैं, लेकिन ये काम रोज करना चाहिए। रंगोली की सकारात्मकता घर की नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करती है।

आंगन में लगाना चाहिए तुलसी का पौधा

घर के आंगन तुलसी का पौधा लगाने की पंरपरा बहुत प्राचीन समय से चली आ रही है। आज भी काफी लोग इस परंपरा को निभा रहे हैं। तुलसी पूजनीय और पवित्र पौधा है। तुलसी की महक से घर के आसपास के कई सूक्ष्म हानिकारक कीटाणु खत्म होते हैं। सकारात्मकता बढ़ती है।

नमक के पानी से लगाएं पोंछा

घर की नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए घर में पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा नमक मिला लेना चाहिए। इसके लिए समुद्री नमक यानी साबूत (खड़ा) नमक इस उपाय के लिए श्रेष्ठ रहता है। इस उपाय से भी घर की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है। वातावरण की पवित्रता बढ़ती है।

गौमूत्र का छिड़काव करें

घर में समय-समय पर गौमूत्र का छिड़काव करते रहना चाहिए। मान्यता है कि जिन घरों ये उपाय किया जाता है, वहां सभी देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है। गौमूत्र की तीव्र गंध से वातावरण में मौजूद हानिकारक कीटाणु नष्ट हो जाते हैं और वास्तु दोषों के साथ ही नकारात्मक ऊर्जा भी बेअसर हो जाती है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
old traditions about positive energy, significance of rangoli in home, vastu tips about happiness


Comments