सिंह संक्रांति 2020 : इस दिन अपनी ही राशि में जा रहे हैं सूर्य, जानिये शुभ समय और आप पर असर

ग्रहों के राजा व आदि पंच देवों में से एक सूर्य देव साल में सभी 12 राशियों का भ्रमण कर लेते हैं। ऐसे में सूर्यदेव हर राशि में करीब एक माह के समय तक रहते हैं। सूर्य के इसी राशि परिवर्तन को संक्रांति कहा जाता है। सूर्य के इन राशि परिवर्तनों में मकर संक्रांति, कर्क संक्रांति के अलावा मीन संक्रांति यानि चैत्र संक्रांति, मेष संक्रांति आदि विशेष मानी जाती हैं।

वहीं भादो मास में जब सूर्यदेव अपनी राशि परिवर्तन करते हैं, तो उस संक्रांति को सिंह संक्रांति कहते हैं। इस संक्रांति में घी के सेवन का विशेष महत्व है। दक्षिणी भारत में सिंह संक्रांति को सिंह संक्रमण भी कहा जाता है।

MUST READ : कोरोना संक्रमण- इस दिन से शुरु होगा समाप्ति का सफर, जानें बचाव के कुछ खास ज्योतिषीय उपाय

https://www.patrika.com/hot-on-web/corona-infection-will-come-down-from-this-date-in-india-6306245/

सिंह संक्रांति पूजा 2020 के तारीख व कैलेंडर:-
त्यौहार के नाम : दिन : त्यौहार के तारीख
सिंह संक्रांति : रविवार : 16 अगस्त 2020

यहां इस दिन को सभी बड़े पर्व के रूप में मनाते है। सिंह संक्रांति के दिन भगवान् विष्णु, सूर्य देव और भगवान नरसिंह का पूजन किया जाता है। इस दिन भक्त पवित्र स्नान भी करते है।

इसके बाद देवताओं का नारियल पानी और दूध से अभिषेक किया जाता है। जिसके लिए केवल ताजे नारियल पानी का ही इस्तेमाल किया जाता है। बहुत से लोग इस दिन भगवान गणेश का भी पूजन करते है और प्रार्थना करते है।

कुछ समुदायों में सूर्य राशि के कन्या राशि में प्रवेश करने तक विशेष पूजन किया जाता है। इस दिन सूर्य देव की पूजा का खास महत्व होता है। क्योंकि सूर्य देव को सिंह राशि का देवता माना जाता है।



source https://www.patrika.com/festivals/singh-sankranti-2020-festival-time-schedule-and-hindu-calendar-6306301/

Comments