शुक्रवार यानि मां लक्ष्मी का दिन: जानें इस दिन व्रत के फायदे

भाग्य के कारक ग्रह शुक्र के चलते ही सप्ताह में एक दिन का नाम शुक्रवार पड़ा। वहीं इस दिन की कारक देवी मां लक्ष्मी मानी जाती हैं, जिन्हें धन और संपत्ति की अधिष्ठात्री देवी के अलावा सौभाग्य की देवी माना जाता है।

पंडित सुनीनल शर्मा के अनुसार ऐसे में शुक्रवार का व्रत माता वैभव लक्ष्मी व संतोषी माता के लिए किया जाता है। इस दिन कुछ जातक जहां माता वैभव लक्ष्मी का उपवास करते हैं, तो वहीं कुछ जातक माता संतोषी का उपवास करते हैं।

ऐसा माना जाता है कि जो जातक शुक्रवार का व्रत पूरे श्रद्धाभाव और आस्था के साथ करता है। देवी मां की कृपा से उसके मन की सभी इच्छाओं को पूरी होने में मदद मिलती है।

MUST READ : भगवान विष्णु का दिन है गुरुवार, इन उपायों से प्रसन्न होते हैं प्रभु, जरूर करें ये गुप्त उपाय

https://www.patrika.com/gwalior-news/guruvar-vrat-benefits-and-pooja-of-vishnu-on-thursday-4914332/

इस व्रत को करने के लिए सुबह ब्रह्ममुहूर्त में उठकर नहा धोकर स्वस्छ वस्त्र धारण करने चाहिए। उसके बाद शाम के समय माता का आसन लगाकर पूजा पाठ करनी चाहिए। व्रत कथा पढ़नी चाहिए, और आरती करनी चाहिए। फिर माता रानी से हाथ जोड़कर आशीर्वाद लेना चाहिए।

इसके बाद प्रसाद बांटकर व्रत रखने वाला व्यक्ति भी एक समय भोजन कर सकता है। माना जाता है ऐसे सच्चे मन से यदि कोई इस व्रत को करता है तो माता की कृपा हमेशा उस जातक पर बनी रहती है।

शुक्रवार : इस दिन व्रत करने के फायदे...
पंडित शर्मा के अनुसार यदि कोई जातक शुक्रवार का व्रत करता है फिर चाहे वो माता वैभव लक्ष्मी के लिए हो या माता संतोषी के लिए हो। इन व्रत को करने से जातक को बहुत से फायदे मिलते हैं। जो इस प्रकार हैं...

MUST READ : जुलाई 2020 - इस माह कौन-कौन से हैं तीज त्यौहार, जानें दिन व शुभ समय

https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/hindu-calendar-july-2020-for-hindu-festivals-6232877/

अविवाहित कन्या को मिलता है सुयोग्य वर
माना जाता है कि यदि कोई अविवाहित कन्या शुक्रवार का व्रत सुयोग्य वर पाने की इच्छा से करती है। तो इस व्रत को करने से अविवाहित कन्या को सुयोग्य वर मिलने में मदद मिलती है।

मिलती है सफलता...
: यदि कोई व्यक्ति परीक्षा में सफलता पाने के लिए इस व्रत को करता है।
- तो माना जाता है कि उसे परीक्षा में सफलता पाने में मदद मिलती है।

: वहीं अदालत में यदि कोई आपका केस चल रहा हो, जिसका बहुत समय से कोई हल न मिल रहा हो।
- तो जानकारों का कहना है कि शुक्रवार का व्रत करने से आपको अदालत में जीत मिलने में मदद मिलती है।

: कोई काम न बन रहा हो, या किसी काम में रूकावट आ रही हो।
- तो आप शुक्रवार का व्रत इन परेशानियों से निजात पाने के लिए भी कर सकते हैं।

: व्यापार में तरक्की न हो, दूकान का काम न हो।
- तो इन परेशानियों को को दूर करने के लिए भी शुक्रवार का व्रत रखने से फायदा मिलता है। माना जाता है कि ऐसा करने से आपके व्यापार व दूकान के काम में तरक्की होती है।

सुख समृद्धि के लिए...
: व्रत के संबंध में मान्यता है कि यदि कोई शादी शुदा महिला शुक्रवार का व्रत अपने परिवार में सुख समृद्धि के लिए करती है।
- तो इस व्रत को करने से परिवार में सुख समृद्धि बनी रहती है।
- परिवार के लोगों के बीच स्नेह व अपनापन रहता है।
- घर में ख़ुशी और सकारत्मकता रहती है।
- साथ ही महिला के शादीशुदा जीवन में यदि कोई समस्या है तो उसे भी दूर करने में मदद मिलती है।

संतान सुख की होती है प्राप्ति!
कई बार दम्पति घर में शिशु न होने के कारण दर दर भटकते हैं। लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं हो पाता है...
- ऐसे में माना जाता है कि शुक्रवार का व्रत करने से दम्पति को संतान सुख पाने में मदद मिलती है।
- साथ ही यदि कोई वंश को आगे बढ़ाने के लिए पुत्र होने की कामना से इस व्रत को करता है। तो उसे पुत्र प्राप्ति होने में भी मदद मिलती है।

धन में होती है बरकत...
कुछ लोग हमेशा इस चीज को लेकर परेशान रहते हैं की उनके पैसे में बरकत नहीं रहती है। और हमेशा कभी कुछ तो कभी कुछ घाटा लगा रहता हैं।
- ऐसे में इस परेशानी से बचाव के लिए शुक्रवार का व्रत बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। मान्यता के अनुसार शुक्रवार का व्रत रखने से आपके पैसे में बरकत होने में मदद मिलती है।



source https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/benifits-of-friday-religious-fast-shukrawar-vrat-ke-fayde-and-pooja-6239847/

Comments