मंगलवार व्रत: देव सेनापति मंगल का आप पर असर व इस दिन उपवास करने के फायदे

ग्रहों में मंगल को देवताओं का सेनापति यानि देव सेनापति माना जाता है। वहीं ज्योतिष में मंगल एक क्रूर ग्रह है। मनुष्य जीवन के लिए यह बड़ा प्रभावकारी ग्रह है। मंगल दोष के कारण लोगों के विवाह में कठिनाई आती है।

गरुण पुराण के अनुसार मनुष्य के शरीर में नेत्र मंगल ग्रह का स्थान है। यदि किसी जातक का मंगल अच्छा हो तो वह स्वभाव से निडर और साहसी होगा तथा युद्ध में वह विजय प्राप्त करेगा। लेकिन यदि किसी जातक की जन्म कुंडली में मंगल अशुभ स्थिति में बैठा हो तो जातक को विविध क्षेत्रों में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। मंगल ग्रह लाल रंग का प्रतिनिधित्व करता है,जबकि इसका रत्न मूंगा माना गया है।

वैदिक ज्योतिष में मंगल ग्रह ऊर्जा, भाई, भूमि, शक्ति, साहस, पराक्रम, शौर्य का कारक होता है। मंगल ग्रह को मेष और वृश्चिक राशि का स्वामित्व प्राप्त है। यह मकर राशि में उच्च होता है, जबकि कर्क इसकी नीच राशि है। वहीं नक्षत्रों में यह मृगशिरा, चित्रा और धनिष्ठा नक्षत्र का स्वामी होता है।

MUST READ : मंगला गौरी व्रत 2020 - ऐसे करें मां पार्वती को प्रसन्न

https://www.patrika.com/dharma-karma/mangla-gauri-vrat-puja-vidhi-in-shrwan-month-6250427/

वहीं इस दिन के कारक देव श्री रामभक्त हनुमान को माना जाता है, वहीं इस दिन देवी मां की पूजा का भी विधान है। ऐसे में मंगलवार का दिन बजरंगबली का दिन माना जाता है, और कई भक्त मंगलवार के दिन बजरंगबली जी के लिए उपवास भी करते हैं। और यदि उपवास नहीं भी करते हैं तो हर मंगलवार को हनुमान जी को भोग लगाने के लिए और उनका आशीर्वाद पाने के लिए मंदिर जरूर जाते हैं।

ऐसे रखें मंगलवार का व्रत... Mangalwar vrat
पंडित सुनील शर्मा के अनुसार मंगलवार का व्रत कम से कम 21 मंगलवार तक लगातार करना चाहिए, इसके तहत व्रत रखने वाले जातक को सुबह समय से उठकर नहा धोकर लाल वस्त्र पहनकर तैयार हो जाना चाहिए।

उसके बाद ईशान कोण में हनुमान जी का चित्र लगाकर पूजा करनी चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगलवार का व्रत उन लोगों को करने की सलाह दी जाती है जिनकी कुंडली में मंगल ग्रह निर्बल होता है या मंगल ग्रह शुभ फल नहीं दे रहा होता है। इसके अलावा मंगलवार का व्रत रखने से और भी बहुत से फायदे मिलते हैं।

MUST READ : सावन में रुद्रावतार को ऐसे करें प्रसन्न, हर इच्छा होगी पूरी

https://www.patrika.com/religion-news/get-blessings-of-11th-rudravtar-in-savan-month-6245098/

मंगल ग्रह प्रबल होता है
माना जाता है कि यदि आपकी कुंडली में मंगल ग्रह निर्बल है तो मंगलवार का व्रत रखने से मंगल की दशा को सुधारने में मदद मिलती है और मंगल ग्रह प्रबल होता है। जिससे मंगल ग्रह के निर्बल होने के कारण आपकी तरक्की के मार्ग में आ रही रुकावटों को दूर करने में मदद मिलती है।

काली शक्तियों का प्रभाव खत्म
मान्यता के अनुसार मंगलवार का व्रत रखने से काली शक्तियों के बुरे प्रभाव से बचे रहने में मदद मिलती है। साथ ही यदि आप पर किसी ऊपरी शक्ति का प्रभाव है, तो उसे भी खत्म करने में मदद मिलती है।

नहीं रहता शत्रु का भय
मंगलवार का व्रत रखने से आपको शत्रुओं का भय नहीं रहता है और यदि आपका कोई शत्रु आप पर बुरी दृष्टि भी रखता है, तो उससे भी आपको बचे रहने में मदद मिलती है।

MUST READ : नौकरी में चल रही उलझन और परेशानी को दूर करने के लिए अपनाएं कोई भी एक उपाय

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/problem-in-job-or-you-want-a-job-use-any-one-tips-6241025/

ऐसे समझें : मांगलिक दोष निवारण
पंडित शर्मा के अनुसार यदि किसी जातक की कुंडली में मांगलिक दोष है तो भी मंगलवार का व्रत रखने से मांगलिक दोष को खत्म करने में मदद मिलती है। साथ ही मांगलिक दोष के कारण आपको हो रही समस्या के निवारण होने में मदद मिलती है।

शनि दोष होता है कम
शनि की महादशा, शनि की ढैय्या या शनि की साढ़ेसाती किसी जातक के ऊपर होती है। तो ऐसे में भी यदि आप मंगलवार का व्रत रखते हैं तो इससे शनि के बुरे प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है।

धन यश की होती है प्राप्ति
मंगलवार का व्रत रखने से धन, यश, साहस, बल, पुरुषार्थ बढ़ता है। जीवन में सम्मान मिलता है, खुशियों के रास्ते खुलते हैं। आपके तरक्की के रास्ते में आ रही रुकावट दूर होती है।

संतान प्राप्ति के लिए
माना जाता है कि यदि कोई जातक को संतान प्राप्ति नहीं हो रही है तो भी मंगलवार का व्रत करना बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि मंगलवार का व्रत यदि संतान प्राप्ति की इच्छा से किया जाता है तो इस इच्छा को पूरा करने में मदद मिलती है।



source https://www.patrika.com/religion-news/benefits-of-tuesday-fast-whose-lord-is-hanumanji-6250629/

Comments