किस ग्रह के अधिपत्य में है ये साल 2020, जानिये कैसे पाएं इस साल की मुसीबतों से मुक्ति

2020... एक ऐसा वर्ष जो लगातार अप्रत्याशित स्थितियां तो सामने ला ही रहा है, वहीं इस साल कोरोना संक्रमण ने लोगों को इतना परेशान कर दिया है कि अब हर कोई इससे मुक्ति चाहता है। ये सब क्यों हो रहा है यदि इसके संबंध में ज्योतिष की बात करें तो कुछ ऐसी स्थितियां सामने आती हैं, जो इसका कारण बताने के साथ ही कई ओर रहस्यों को भी उजागर करती दिखती हैं।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार यह वर्ष 2020 राहु का है और राहु को ज्योतिष विद्या के अंतर्गत अप्रत्याशित तरीके से परिणाम देने वाला माना जाता है। यह परिणाम सकारात्मक और नकारात्मक दोनों ही प्रकार के हो सकते हैं... जिनका आधार आपकी कुंडली में राहु की स्थिति और बैठकी है।

ऐसे में माना जा रहा है कि जिस जातक की कुंडली में राहु की स्थिति शुभ है उन्हें 2020 से घबराने की आवश्यकता नहीं, लेकिन अगर कुंडली में बैठा राहु नीच का है या कमजोर अवस्था में बैठा है तो कुछ ज्योतिषीय उपाय आपकी मदद कर सकते हैं... अन्यथा यह वर्ष आपको परेशानी में डाल सकता है।

ऐसे बचें इन समस्याओं से...
क्रूर ग्रह राहु के क्रोध और उसके दुष्प्रभाव से बचने के लिए कुंडली में देव सेनापति मंगल ही खास उपाय माने जाते हैं। क्योंकि मंगल ही इसके प्रभाव को निष्क्रियता में ले जाते हैं। वहीं मंगल के कारक श्री हनुमान हैं। और वे हनुमान ही है जिन्होंने सूर्य का ग्रास करते समय राहु को तक भयग्रस्त कर दिया था।

पंडित शर्मा के अनुसार राहु से परेशान जातकों को हनुमत आराधना का सहारा लेना चहिए, क्योंकि वही है जो राहु को पूर्ण रूप से नियंत्रित कर सकते हैं। वैदिक ज्योतिष के उपायों के अनुसार बजरंग बाण, हनुमान चालीसा और सुंदर कांड का नियमित पाठ करने से आप पवनपुत्र की कृपा प्राप्त कर सकते हैं।

वहीं लाल किताब के अनुसार अगर आप पर अचानक कोई संकट आ गया है तो कुछ ऐसे हैं जिनकी सहायता से आप स्वयं को राहु के कोप से बचा सकते हैं, बशर्ते इस उपायों का अनुसरण पूरी श्रद्धा और भक्ति भाव से किया जाए।

: लाल किताब के अनुसार लगातार 5 शनिवार हनुमान जी की मूर्ति को चोला चढ़ाने से आपके जीवन में आए बड़े से बड़े संकट का हल हो जाता है। चोला चढ़ाने के बाद हनुमान चालीसा का पाठ करते हुए हनुमान जी को बनारसी पान का बीड़ा भी अर्पित करें।

: वहीं यदि आपके जीवन में दुखों के बादल घिर आए हैं और आपको उनसे पार पानेका कोई तरीका नजर नहीं आ रहा तो आपको हर मंगलवार और शनिवार हनुमान चालीसा का जाप करने के बाद बरगद के पत्ते पर आटे का दीया रखकर किसी भी हनुमान मंदिर में रख आएं। आपको अपने कष्टों से पार पाने का तरीका मिल जाएगा।

: यदि आपके जीवन में चल रही परेशानियों के लिए राहु ही जिम्मेदार है तो आपको नियमित रूप से बजरंग पाण का पाठ करना चाहिए... अगर आपके काम नहीं बन पा रहे या घर-परिवार के किसी सदस्य पर मृत्यु का खतरा है तो आपको निश्चित तौर पर बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए।



source https://www.patrika.com/dharma-karma/rahu-s-dominance-on-this-year-2020-and-its-influence-on-you-6310423/

Comments