33 करोड़ नहीं, 33 प्रकार के हैं देवता, इनमें आठ वसु, ग्यारह रुद्र, बारह आदित्य, इंद्र और प्रजापति शामिल हैं

देवताओं की संख्या को लेकर मान्यता प्रचलित है कि उनकी संख्या 33 करोड़ है। लेकिन, ये संख्या सही नहीं है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार शास्त्रों में 33 कोटि यानी 33 प्रकार के देवी-देवता बताए गए हैं। कोटि शब्द के दो अर्थ होने की वजह से ये भ्रम फैला है।

कोटि शब्द का एक अर्थ है प्रकार यानी 33 प्रकार के देवता हैं। कोटि शब्द का दूसरा अर्थ है करोड़। कोटि शब्द के दूसरे अर्थ की वजह से ही 33 करोड़ देवी-देवता होने की मान्यता प्रचलित हो गई है।

33 कोटि देवी-देवताओं में आठ वसु, ग्यारह रुद्र, बारह आदित्य, इंद्र और प्रजापति शामिल हैं। कुछ शास्त्रों में इंद्र और प्रजापति के स्थान पर दो अश्विनी कुमारों को 33 कोटि देवताओं में शामिल किया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
33 types of god, there are 33 types of god in Hinduism, old traditions about god and goddess


Comments