दुर्गा पूजा 2020 : अधूरी इच्छा को जल्द पूरा करने के लिए नवदुर्गा में अपनाएं ये उपाय

शारदीय नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा की जाती है। इस बार यानि वर्ष 2020 में यह पर्व 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। इस दौरान देवी मां को प्रसन्न करने के लिये कई उपाय भी किये जाते हैं। नवरात्रि में मां दुर्गा की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। कई लोग व्रत भी रखते हैं। इस नवरात्रि यदि आप देवी मां को प्रसन्न करना चाहते हैं, यूं तो नवरात्र में देवी मां को प्रसन्न करने के कई उपाय हैं, ऐसे में इस बार नवरात्रि के दिनों में पान के पत्ते के 10 सटीक, सरल और अचूक उपाय जरूर करें। आइए जानते हैं वे सरल उपाय जो आपकी हर मनोकाना पूरी करेंगे...

देवी भक्ति की व‍िशेष पूजा और अर्चना का पर्व शारदीय नवरात्रि 17 अक्‍टूबर दिन शनिवार से शुरू हो रहा है। यह पर्व 25 अक्टूबर तक चलेगा। बता दें क‍ि इस बार की शारदीय नवरात्रि अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण है क्‍योंक‍ि इस बार पूरे 58 वर्षों के बाद शनि, मकर में और गुरु, धनु राशि में रहेंगे। इससे पहले यह योग वर्ष 1962 में बना था।

इन उपायों से सभी मनोकामनाएं हो जाएगी पूरी...

1. नवरात्रि में मंगलवार के दिन हनुमान जी के सामने पान के पत्ते पर सिंदूर से श्री राम लिखकर उन्हें अर्पित करें। अर्पित करते समय एक चीज ध्यान रखें कि ये हनुमान जी के चरण में ना रखें। यह उपाय आपके कार्यों में आ रही सभी अड़चनें दूर कर देगा और आपकी जिंदगी में सुख-शांति और समृद्धि लाएगा।

2. गृह क्लेश हो रहा हो या कोई परेशानी घर में हो तो नवरात्रि में नौं दिनों तक लगातार पान के पत्ते पर केसर रखकर दुर्गा स्त्रोत और दुर्गा जी की नामावली का पाठ करें। घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होने लगेगा।

3. नवरात्रि में सुबह ब्रह्म मुहूर्त में 4 से 6 बजे के बीच में मां भुवनेश्वरी और सौभाग्यसुंदरी का ध्यान करें और पान के पत्ते की जड़ को घिसकर उसका तिलक करें। इस उपाय को करने से आपकी वाणी और खूबसूरती में वृद्धि होगी और आकर्षण शक्ति में बढ़ोतरी होगी।

4. नवरात्रि के शुरुआती 5 दिनों में 1 पान के पत्ते पर ह्रीं लिखकर मां दुर्गा को अर्पित करें, इसके बाद महानवमी के बाद उन 5 पान के पत्तों को अपने पैसे रखने वाली जगह पर रख दें। इस उपाय को करने से दरिद्रता और घोर आर्थिक तंगी से छुटकारा मिलेगा।

5. धन संबंधित कोई भी परेशानियां आ रही हों तो नवरात्रि में एक पान के पत्ते पर गुलाब की पंखुड़ियां रखकर मां दुर्गा को अर्पित करें। इससे धन के आगमन में सरलता आएगी।

6. नवरात्रि के मंगलवार के दिन एक साबूत पत्ता लेकर उसमें लौंग और इलायची रखें। उसका बीड़ा बना लें। हनुमान मंदिर में जाकर यह बीड़ा अर्पित कर दें। कर्ज की समस्या से छुटकारा पाने का यह अचूक उपाय है।

7. कई सालों से आपकी कोई ख्वाहिश अधूरी है और आप उसे पूरा करना चाह रहे हैं तो यह उपाय आपके लिये कारगार साबित होगा। पान के पत्ते पर दो लौंग रखकर दोनों हाथों से जल में प्रवाहित कर दें। जितनी भी पुरानी इच्छा होगी वो जल्द पूरी हो जाएगी।

8. नौकरी में प्रमोशन या फिर व्यापार में बढ़ोतरी में अड़चने आ रही है तो नवरात्रि में ये उपाय जरुर करें- पान के पत्ते के दोनों तरफ सरसों का तेल लगाएं और इसे मां दुर्गा को अर्पित कर दें। इसके बाद पान के पत्ते को अपने सिर के पास रखकर सो जाएं। अगले दिन सुबह उठकर पान के पत्ते को किसी दुर्गा मंदिर के पीछे रख आएं। सभी बाधाएं दूर होंगी व कार्य में प्रगति आएगी।

9. व्यापार में सफलता प्राप्त करने के लिये नवरात्रि में नौं दिनों तक एक ही समय पर पान का बीड़ा मां दुर्गा के मंदिर में जाकर चढ़ाएं। आपको व्यापार में जरुर ही लाभ होगा। ध्यान रहे की हर दिन एक निश्चित समय पर ही जाएं, वरना लाभ नहीं होगा।

देवी पूजा के दौरान न करें ये भूल : don't do this

नौं दिनों तक मनाए जाने वाले इस देवी मां के पर्व में मां दुर्गा की भक्ति-आराधना की जाएगी। मां को प्रसन्न करने के लिये कुछ लोग व्रत-उपवास रखते हैं तो कुछ उनकी उपासना व सात्विक पूजा-पाठ करते हैं। हालांकि नवरात्रि में तांत्रिक पूजा भी की जाती है, लेकिन जो लोग व्रत करते हैं उन्हें खुद पर संयम और अनुशासन रखना जरुरी होता है। आइए जानते हैं...

शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि नवरात्रि में देवी मां को सच्चे मन से प्रसन्न करने के लिये उपवास किये जाते हैं, लेकिन कोई गलती हो जाती है तो देवी मां नाराज भी हो जाती है। इसलिये नवरात्रि के समय भूलकर भी इन कामों को नहीं करना चाहिए...

- यदि आप अपने घर में कलश स्थापना कर अखंड ज्योति जला रहे हैं, तो इस बात का ध्यान रखें कि नौं दिनों तक अपने घर को कभी सूना ना छोड़ें।
- यदि आप नवरात्रि के उपवास कर रहे हैं तो, आप इन नौं दिनों तक दाढ़ी-मूछ वा बाल ना कटवाएं।
- नौ दिन तक सात्विक भोजन करें। नवरात्रि के समय नॉनवेज व लहसुन, प्याज का सेवन न करें।
- व्रत कर रहे हैं तो अनाज का सेवन ना करें, फलाहार करें।
- नौ दिन का व्रत रखने वालों को साफ-सुथरे कपड़े पहनकर पूजा करनी चाहिए।
- व्रत रखने वाले लोगों को बेल्ट, चप्पल-जूते, बैग जैसी चमड़े की चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
- व्रत रखने वालों को नौ दिन तक नींबू नहीं काटना चाहिए।
- शारीरिक संबंध बनाने से व्रत का फल नहीं मिलता है।
- चालीसा, मंत्र या सप्तशती पढ़ रहे हैं तो पढ़ते हुए बीच में दूसरी बात बोलने या उठने की गलती कतई ना करें।

नवरात्रि के दौरान करें ये कार्य, मिलेगा व्रत का पूर्ण फल...

- ब्रम्हमुहूर्त में स्नान कर देवी मां का पूजन करना चाहिए। सूर्योदय के पूर्व पूजन से देवी मां प्रसन्न होती हैं।
- नौ देवियों के अनुरूप उन्हें पुष्प अर्पित करना चाहिए। इससे देवी मां प्रसन्न होती हैं।
- नौ दिन में चौबीस हजार गायत्री मंत्रों का जाप करना चाहिए।
- नौ देवियों को दिन के अनुरूप उन्हें भोग लगाना चाहिए व उनका पूजन विधान से करना चाहिए।

किस द‍िन होगी देवी के क‍िस रूप की पूजा...
मां शैलपुत्री पूजा घटस्थापना : 17 अक्टूबर 2020
मां ब्रह्मचारिणी पूजा : 18 अक्टूबर 2020
मां चंद्रघंटा पूजा : 19 अक्टूबर 2020
मां कुष्मांडा पूजा : 20 अक्टूबर 2020
मां स्कंदमाता पूजा : 21 अक्टूबर 2020
षष्ठी मां कात्यायनी पूजा : 22 अक्टूबर 2020
मां कालरात्रि पूजा : 23 अक्टूबर 2020
मां महागौरी दुर्गा पूजा : 24 अक्टूबर 2020
मां सिद्धिदात्री पूजा : 25 अक्टूबर 2020



source https://www.patrika.com/dharma-karma/durga-puja-2020-starts-from-17-october-called-shardiya-navratri-6450330/

Comments