कभी भी अच्छे लोगों की तलाश न करें, खुद अच्छे बन जाएं, आपसे मिलकर शायद किसी की ये तलाश पूरी हो जाए

जैन मुनि तरुण सागर को उनके प्रवचनों की वजह से काफी प्रसिद्धि मिली थी। वे अपने प्रवचनों में सामाजिक कुरीतियों की तीव्र आलोचना करते थे। उनका जन्म 26 जून 1967 को हुआ था। मुनि तरुण सागर के बचपन का नाम पवन जैन था। कम उम्र में ही उन्होंने दीक्षा ले ली थी और वे जैन मुनि बन गए। इसके बाद उन्हें तरुण सागर के नाम से जाना जाने लगा। तरुण सागर महाराज की मृत्यु 1 सितंबर 2018 को हुई थी। उन्हें पीलिया हो गया था। जानिए मुनि श्री तरुण सागर के कुछ ऐसे विचार, जिन्हें जीवन में उतार लेने से हमारी कई समस्याएं खत्म हो सकती हैं...




Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Motivational quotes of tarun sagar, inspirational quotes of tarun sagar ji, life management tips by muni shri tarun sagar, jain muni tarun sagar ji maharaj


Comments