ये रुद्राक्ष दिलाएगा सभी चिंताओं से मुक्ति, रुद्राक्ष धारण करने से पहले जान लें नियम

आमतौर पर रुद्राक्ष को भगवान शिव का अवतार कहा जाता है। रुद्राक्ष भगवान शिव के अंग का प्रतीक माना गया है। यह प्रेम संबंधों और वैवाहिक जीवन के लिए अत्यधिक लाभकारी होता है। भगवान शिव के भक्त हमेशा अपने शरीर में इसे धारण किए रहते हैं। इसे धारण करने वाले के जीवन में कोई समस्याएं नहीं आती हैं। इसे धारण करने वाले को अपने जीवन में कई नियम लागू करने पड़ते हैं, इसे कोई भी नहीं पहन सकता है। दरअसल, रुद्राक्ष के विभिन्न दानों का संबंध अलग-अलग देवी-देवताओं और मनोकामनाओं से है। जैसे एक मुखी रुद्राक्ष तो साक्षात शिव का स्वरूप है। वह भोग और मोक्ष प्रदान करता है। वहीं दो मुख वाला रुद्राक्ष देव देवेश्वर कहा गया है। यह सभी मनोकामनाओं को पूरा करने वाला है।

ऐसी मान्यता है कि सभी चिताओं से मुक्ति पाने के लिए भगवान शंकर की भक्ति करते है और उनकी कृपा पाते है। शिवपुराण के मुताबिक, रुद्राक्ष आपके जीवन की कई परेशानियों को दूर करने में मदद करता हैं। यह हमारे जीवन में कितना असर कारी है और किस प्रकार से इसकी पूजा की जाती है। शिवपुराण के अनुसार, रुद्राक्ष कोई भी धारण कर सकता हैं।

रुद्राक्ष 14 प्रकार के होते हैं। उनका अलग-अलग फल एवं पहनने के मंत्र हैं.....

1 मुखी रुद्राक्ष- लक्ष्मी प्राप्ति,भोग एवं मोक्ष के लिए 'ॐ ह्रीं नम:' धारण मंत्र के साथ पहनें।

2 मुखी रुद्राक्ष- कामनाओं की पूर्तिके लिए धारण मंत्र-'ॐ नम:' के साथ पहनें।

3 मुखी रुद्राक्ष -विद्या प्राप्ति के लिए धारण मंत्र-'ॐ क्लीं नम:' को बोलकर पहनें।

4 मुखी रुद्राक्ष -धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष प्राप्ति के लिए धारण मंत्र-'ॐ ह्रीं नम:' का स्मरण कर पहनें।

यह भी पढ़े :— जानिए कैसा होगा आपका जीवन साथ, इन नाम की लड़की से होगी शादी

5 मुखी रुद्राक्ष -मुक्ति एवं मनोवांछित फल हेतु धारण मंत्र-ॐ ह्रीं क्लीं नम: के साथ पहनें।

6 मुखी रुद्राक्ष- पाप से मुक्ति हेतु मंत्र-ॐ ह्रीं ह्रुं नम: के साथ धारण करें

7 मुखी रुद्राक्ष - ऐश्वर्यशाली होने के लिए मंत्र ॐ हुं नम: का ध्यान कर इस रुद्राक्ष को धारण करें।

8 मुखी रुद्राक्ष- लंबी आयु प्राप्ति के लिए ॐ हुं नम: धारण मंत्र के साथ पहनें।

9 मुखी रुद्राक्ष से सभी कामना पूर्ण होती हैं। इसे बाएं हाथ में ॐ ह्रीं ह्रुं नम: मंत्र के साथ धारण करें।

यह भी पढ़े :— अनोखा शिव मंदिर, जहां नाग रोजाना करता है पूजा, बहुत दूर-दूर से आते है श्रद्धालु

10 मुखी रुद्राक्ष संतान प्राप्ति हेतु मंत्र-ॐ ह्रीं नम: के साथ पहनें।

11 मुखी रुद्राक्ष सर्वत्र विजय प्राप्त करने हेतु इस धारण मंत्र-ॐ ह्रीं ह्रुं नम: के साथ पहनें।

12 मुखी रुद्राक्ष रोगों में लाभ हेतु मंत्र-ॐ क्रौं क्षौं रौं नम: के साथ पहनें।

13 मुखी रुद्राक्ष सौभाग्य एवं मंगल की प्राप्ति के लिए मंत्र-ॐ ह्रीं नम: के साथ पहनें।

14 मुखी रुद्राक्ष समस्त पापों का नाश करता है। इसे धारण मंत्र-ॐ नम: के साथ पहनें।


इसे धारण करने वाले व्यक्ति को तामसिक भोजन और मदिरापान का त्याग करना चाहिए। ग्रहण, संक्रांति, अमावस्या और पूर्णिमा, शिवरात्रि, सावन सोमवार, चतुर्दशी के दिन इसे आप धारण करें तो अधिक शुभ फलदायी होता है।



source https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/science-prooved-wearing-rudraksh-is-beneficial-but-before-wearing-rule-6497506/

Comments