आज है श्री गणेश जी को प्रसन्न करने का दिन, बस इन बातों का रखें ध्यान

भगवान गणेश स्वयं रिद्धि-सिद्धि के दाता और शुभ-लाभ के प्रदाता हैं। सनातन हिंदू संस्कृति में श्री गणेश जी प्रथम पूज्य देव होने के साथ ही बुद्धि के देवता भी माने जाते हैं। वहीं सप्ताह में श्री गणेश जी का विशेष दिन बुधवार माना जाता है, जो कि आज है। अत: शास्त्रों में भी बुधवार का दिन गणपति की पूजा के लिए विशेष माना जाता है। श्री गणेश जी भक्तों की बाधा, संकट, रोग-दोष तथा दरिद्रता को दूर करते हैं।

शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि श्री गणेश जी विशेष पूजा का दिन बुधवार है। इस दिन भगवान की पूजा सच्चें मन से करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। साथ ही अगर आपकी कुंडली में बुध ग्रह अशुभ स्थिति में है तो इस दिन पूजा करने से वह भी शांत हो जाता है। इसके अलावा मिथुन व कन्या राशि(जन्मकुंडली के अनुसार) वाले जातकों के स्वामी बुध होते हैं और और बुध के देवता श्री गणेश है, अत: इस राशि वाले जातकों को भी हमेशा श्री गणेश की पूजा करते रहना चाहिए।

How to get blessing of lord shri ganesh ji : Wednesday The day of lord shri ganesh ji
IMAGE CREDIT: How to get blessing of lord shri ganesh ji : Wednesday The day of lord shri ganesh ji

धर्म के जानकारों के अनुसार मान्यता है कि इस दिन गणेश भगवान की विशेष पूजा करने से आपको सभी कार्यों में सफलता मिलेगी और भाग्य भी आपका साथ देगा। माना जाता है कि बुधवार के दिन भगवान श्री गणेश की विशेष पूजा की जाए, तो व्यक्ति की सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। इसके साथ ही इससे नए ही नहीं पुराने से पुराने रुके हुए काम भी पूरे हो जाते हैं।

वहीं ये भी माना जाता है कि भगवान श्री गणेश की विशेष पूजा से पूजा-अर्चना करने से घर में सुख शांति और समृद्ध‍ि आती है। बुधवार के दिन भगवान गणेश से जुड़े ये उपाय करने से जीवन से जुड़ी सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं। श्री गणेश की कृपा से, नए ही नहीं पुराने से पुराने रुके हुए काम भी पूरे हो जाते हैं।

हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार, भगवान गणपति की पूजा करने का एक विशेष तरीका होता है। यदि विधिवत उनकी पूजा की जाए तो गणपति प्रसन्न होकर तमाम बाधाओं परेशानियों और तनाव से मुक्ति दे देते हैं। इसलिए माना जाता है कि बुधवार के दिन यदि आप अपने घर में गणपति की स्थापना करें और सफेद गणपति ही लाएं तो आपके घर-परिवार पर आई विपत्ति, शत्रु बाधा या तंत्र शक्तियों का प्रभाव खत्म हो जाएगा। ऐसे में आज हम आपको श्री गणेश जी से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं। जिन्हें जानना आपके लिए अत्यंत आवश्यक है, क्योंकि इस दौरान कि गई कोई भी गलती आपको लाभ की जगह बड़ा नुकसान दे सकती है। आइये जानते हैं जानकारों का इस पर क्या मत है?

श्री गणेशजी को विघ्नहर्ता के नाम से भी जाना जाता है, इसलिए जब आप घर में गणेशजी की मूर्ति की स्थापना करते हैं तो क्या इस बात का ध्यान रखते हैं कि उनकी सूंड किस तरफ होनी चाहिए। मूर्ति या तस्वीरों में सीधी सूंड वाले गणेशजी को दुर्लभ माना जाता है, वहीं एक तरफ सूंड के मुड़ी होने के चलते ही उन्हें वक्रतुण्ड भी कहा जाता है। बता दें गणेशजी की दाई सूंड में सूर्य का प्रभाव और बाई में चंद्रमा का प्रभाव माना जाता है।

दाईं ओर घूमी हुई सूंड
गणेशजी की सूंड अगर दाईं तरह घूमी हो तो हठी होते हैं, इस तरह की मूर्ति और तस्वीरें ज्यादातर ऑफिस और घर में नहीं रखते। कई धार्मिक रीतियों का पालन इन्हें स्थापित करने के दौरान ध्यान में रखना होता है। ज्ञात हो कि जिस मुर्ति में श्री गणेशजी की सूंड दाईं तरफ घूमी हो उन्हें सिद्धिविनायक कहते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इनके दर्शन से हर कार्य सफल हो जाता है और शुभ फल मिलता है।

बाईं ओर घूमी सूंड
गणेशजी की ऐसी प्रतिमा जिसमें वो सिंहासन पर बैठे रहते हैं और सूंड बाई तरह मुड़ी होती है, उसे पूजा घर में रखनी चाहिए। इस प्रतिमा की पूजा से घर में समृद्धि और सुख-शांति आ जाती है। बाईं तरफ जिस गणेशजी की सूंड घूमी होती है, उन्हें विघ्नविनाशक कहा जाता है। ऐसी प्रतिमा को घर के मुख्य द्वार पर लगानना चाहिए, इससे घर में किसी भी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी प्रवेश नहीं कर पाती है, और वास्तु दोष का भी नाश हो जाता है।

सीधी सूंड वाले गणेशजी
संत समाज के लोग गणेशजी की सीधी सूंड वाली मूर्ति रख आराधना करते हैं, इनकी आराधना रिद्धि-सिद्धि, कुण्डलिनी जागरण,मोक्ष, समाधि आदि के उत्तम बताई जाती है।

ऐसे करें श्री गणेश जी की पूजा...
: कार्य सफलता के लिए- यदि आप रुके हुए कार्यों को पूरा करना चाहते हैं, तो बुधवार के दिन घर में ही मिट्टी की गणेश प्रतिमा बनाएं। इस प्रतिमा का ताजे गन्ने के रस और 108 सफेद दुर्वा से अभिषेक करें। ऐसा करने से पुराने से पुराने रुके हुआ कार्य भी पूरे हो जाएंगे। इतना ही नहीं भगवान गणेश आपकी हर मनोकामना पूरी करेंगे। बुधवार के दिन सुबह गणेश जी को दुर्वा की 11 या 21 गांठ चढ़ाएं। ऐसा करने से आपको जल्द ही शुभ फल मिलेगा और आपकी मनोकामना पूर्ण होगी।

: धन वैभव के लिए- बुधवार के दिन सुबह कांसे की थाली में चंदन से ‘ऊं गं गणपतयै नमः’ लिखें। उसके बाद थाली में पांच बूंदी के लड्डू रखकर नजदीक के गणेश मंदिर में दान करें। इस उपाय को करने से धन प्राप्ति में आ रही सभी बाधाएं खत्म हो जाएगी। हर बुधवार जरूरतमंदों को हरी मूंग का दान जरूर करें। ऐसा करके आप अपने संबंधों में आई खटास को दूसर कर सकते हैं।

: परेशानियों से निजात के लिए- अगर आपकी कोई विशेष मनोकामना है या जीवन में कुछ परेशानियां है तो किसी पुराने गणेश मंदिर में जाएं। पुराने गणेश मंदिर में जाकर पूजा सुपारी में कलावा बांधकर 11 दुर्वा के साथ गणेश जी के सीधे हाथ में रख दें। ऐसा करने के बाद हाथ जोड़कर अपनी मनोकामना पूर्ति और परेशानियों को दूर करने के लिए प्रार्थना करें। कहते हैं ऐसा करने से इंसान जल्द ही लाभ मिलेगा।

: मनचाही मुराद के लिए- हर बुधवार को गणेश मंदिर जाएं और 21 गुड़ की ढेली और 21 दुर्वा श्री गणेश मंदिर में जाकर भगवान को अर्पित कर दें। इससे आपकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण होगी। मनोकामना पूर्ति के अलावा यदि आप चाहते हैं कि आपको अधिक धन की प्राप्ति हो तो बुधवार के दिन गणेश जी को शुद्ध घी और गुड़ का भोग लगाएं।

: बुध दोष से निजात के लिए- अगर आप पर बुध दोष का प्रभाव है तो आपको सबसे छोटी उंगली में पन्न रत्न धारण करना चाहिए। पर इससे पहले ज्योतिषी से सलाह जरूर ले लें। बुधवार के दिन गाय को हरी घास खि‍लाने से भी गणपति की कृपा होती है और बुध दोष का प्रभाव कम होता है। बुधवार के दिन गणपति को सिंदुर चढ़ाएं। इससे सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी।

ध्यान रहे कि गणपति बप्पा की पूजा में तुलसी का प्रयोग न करें, तुलसी को इनकी पूजा में निषिद्ध बताया गया है।

उपाय : जो करेंगे हर समस्या का निवारण
- बुधवार के दिन सुबह स्नान कर गणेशजी के मंदिर उन्हें दूर्वा की 11 या 21 गांठ अर्पित करें। ऐसा करनें से आपको जल्द ही शुभ फल मिलेगे।

- अगर आप जिस काम को करने की कोशिश करते है या फिर हर काम में आपको असफलता मिलती है तो बुधवार के दिन गणेश के इस मंत्र का जाप विधि-विधान से करें। आपकों सभी कष्टों से निजात मिल जाएगा।

- अगर आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का भंडार है। आपने कई उपाए किए, लेकिन आपको कोई फायदा नही मिला। तो इस बार बुधवार के दिन अपने घर में श्री गणेश जी की सफेद रंग की मूर्ति स्थापित करें। ऐसा करने से आपके घर की सभी नकारात्मक ऊर्जा बाहर निकल जाएगी।

- अगर आपको धन-संबंधी कोई समस्या है। आप अधिक मेहनत भी करते है, लेकिन आपको इतना धन नही मिलता कि आप संतुष्ट रह सकें तो बुधवार के दिन श्री गणेश की विधि-विधान से पूजा करने के बाद गुड़ और घी का भोग लगाएं और थोडी देर बाद भोग गाय को खिला दें। इससे आपको काफी फायदा मिलेगा।

- अगर आपके घर में हमेशा कलह रहती है। जिसके कारण आपके परिवार में कभी सुख-शांति नही रहती है। इसके लिए बुधवार को दूर्वा से बनी हुई प्रतिकात्मक मूर्ति बनवाएं और उसे अपने घर के पूजा-स्थल में स्थापित करें साथ ही इसकी रोज विधि-विधान से पूजा करें।

- हिन्दू धर्म में गाय को अपनी माता के समान माना जाता है। उनकी सेवा करनें से आपको सुख-शांति की प्राप्ति होती है। इसके लिए बुधवार के दिन गाय को हरी घास खिलाएं। जिससे कि सभी देवी-देवताओं की कृपा आप पर बनी रहेगी।

- गणेशजी को सिंदूर चढ़ाएं। हनुमानजी के साथ ही गणेशजी का श्रृंगार भी सिंदूर के किया जाता है। इसीलिए गणेशजी को सिंदूर चढ़ाने से सभी परेशानियां दूर होती हैं।

- अगर आपका बुध ग्रह खराब है तो इसके लिए बुधवार के दिन किसी गरीब या किसी मंदिर में जाकर हरे मूंग का दान करे इससे आपका बुध ग्रह का दोष शान्त हो जाएगा।
सुख-समृद्धि के लिए किसी पंडित या ज्योतिषी के अनुसार अपने हाथ की सबसे छोटी उंगली में पन्ना रत्न धारण करें।

- बुधवार के दिन गणेश जी को सिंदूर चढ़ाए इससे आपकी सभी मनोकामनाएं जल्द ही पूर्ण होगी। सिंदूर चढ़ाते समय विशेष मंत्र को भी पढ़ें, क्योंकि वैसे तो हर देवी-देवता पर सिंदूर चढ़ाया जाता है, लेकिन शिव परिवार या शिव के सभी अंश अवतारों पर सिंदूर चढ़ाने का एक अलग ही महत्व है। इसलिए हर बुधवार को इस मंत्र के साथ गणेशजी को सिंदूर चढ़ाना चाहिए।
मंत्र-
सिन्दूरं शोभनं रक्तं सौभाग्यं सुखवर्धनम्।
शुभदं कामदं चैव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम्।।

बुधवार को गणेश जी को शमी के पत्ते चढ़ाने पर बुद्धि तेज होती है साथ ही सभी क्लेशों का नाश और मानसिक शांति मिलती है। शमी के पत्ते चढाते समय इस मंत्र का जाप करें जिससे कि गणेश जी जल्द प्रसन्न होगा।
त्वत्प्रियाणि सुपुष्पाणि कोमलानि शुभानि वै।
शमी दलानि हेरम्ब गृहाण गणनायक।।



source https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/lord-shri-ganesh-ji-idol-at-home-or-office-for-blessing-6523067/

Comments