दिवाली पर क्यों की जाती है मां लक्ष्मी की पूजा, जानें इसके पीछे बड़ी वजह

नई दिल्ली। दिवाली (Diwali) के त्योहार नजदीक आ रहा है लोगों की तैयारियां उतनी ही तेजी से हो रही है। इस साल 14 नवंबर को दिवाली का त्योहार मनाया जाएगा। इस दिन देवी लक्ष्मी, श्रीगणेश और सरस्वती की पूजा की जाती है। माना जाता है कि मां लक्ष्मी पूरे कार्तिक मास धरती पर विचरण करती हैं। और अपने भक्तों पर कृपा बरसाती हैं। आज हम आपको बता रहे है दिवाली के दिन के मां लक्ष्मी की पूजा करने का महत्व क्या है।

लक्ष्मी पूजा का महत्व
दीवाली के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने के पीछे एक पौराणिक कथा छिपी हुई है जिसकेबारें में कहा जाता है कि एक गांव में साहूकार रहा करता था। उसकी क बेटी थी जो पूजा पाठ पर विशेष ध्यान देती है। वो रोजाना सुबह उठकर स्नाम करने के बाद पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाया करती थी। साहूकार की बेटी जिस पीपल पर जल चढ़ाने जाती थी, उस पेड़ पर मां लक्ष्मी का वास था। मां लक्ष्मीजी उस साहूकार की बेटी की भक्ति देखकर काफी प्रसन्न हुई औरसाक्षात दर्शन देकर कहा कि वे उसकी मित्र बनना चाहती हैं। लेकिन लड़की ने इसका कोई जवाब नही दिया बस इतनी कहकर आ गई किअपने पिता से पूछकर बताउंगी। जब साहूकार काम करके शाम को घर लौटा तब की बेटी ने सारी बात पिता को बताई। पिता की हां के बाद अगले दिन वह लक्ष्मी जी की मित्र बन गई।

फिर एक दिन साहूकार की बेटी को लक्ष्मीजी अपने साथ ले गई उसको पकवान खिलाए। इसके बाद लक्ष्मीजी ने साहूकार की बेटी से पूछा कि वो उन्हें अपने घर कब ले जाएगी। लेकिन घर की आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण उसने बात को टाल दिया। लेकिन बार बार लक्ष्मी जी के कहने पर एक दिन साहूकार की बेटी ने लक्ष्मी जी को अपने घर बुला लिया।

साहूकार ने अपनी स्थिति के अनुसार मां के आने की तैयारी की। घर पर रोशनी करने के लिए दीया जलाया। तभी एक चील ने किसी रानी का नौलखा हार का लाकर उनके घर पर गिरा दिया। साहूकार की बेटी ने उस हार को बेचकर अच्छा भोजन बनाया। कुछ देर बाद मां लक्ष्मी भगवान गणेश के साथ साहूकार के घर आईं और साहूकार के स्वागत से प्रसन्न होकर उस पर अपनी कृपा बरसाई।

लक्ष्मी जी की कृपा से साहूकार के पास किसी चीज की फिर कभी कोई कमी न हुई। तब से ही दिवाली पर मां लक्ष्मी और श्रीगणेश का स्वागत-सत्कार करने के लिए दीए जलाने और पूजा करने की परंपरा शुरू हो गई।



source https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/why-maa-lakshmi-is-worshiped-on-diwali-6507349/

Comments