Dhanteras 2020: इस बार धनतेरस में बन रहे दो अद्भुत संयोग, होगें हर कार्य पूरे

नई दिल्ली। हमारे देश में दिवाली का पर्व बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन शहर का कोना कोना दीपमलाओं से सजा रहता है। दीपावली से ठीक एक दिन पहले धनतेरस (Dhanteras 2020) का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन लोग साल भर हो रही परेशानी को दूर करने के लिए भगवान धनवंतरि की पूजा पूरे नियमों के साथ करते है। जिससे साल भर घर का भंडार खुशियों से भरा रहता है।

कार्तिक माह (Kartik Maah) में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी के दिन धनवंतरि जी की पूजा की जाएगी। इस दिन लोग पीतल या चांदी के बर्तन खरीदते है जो बहुत शुभ माने जाते है। मान्यता है कि इस दिन खरीदी जाने वाली चीजें धन समृद्धि को बढ़ाती हैं।

इस बार धनतेरस के त्योहार पर विशेष संयोग बन रहे है। जो इस दिन की महत्ता को और बढ़ाने में मदद कर रहे हैं। इसलिए इस बार के धनतेरस के दिन आप जो भी खरीदारी करेंगे, उसका महत्व दोगुना हो जाएगा। जानें क्या कहते है ये विशेष योग

धनतेरस पर मां लक्ष्मी की कृपा

इस बार धनतेरस 13 नवंबर के दिन पड़ने वाला है। और इसमें सबसे खास बात यह है कि उस दिन यानी शुक्रवार का दिन पड़ने वाला है जो मां लक्ष्मी का सबसे खास दिन माना जाता है। इस दिन खरीदारी करने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा बरसेगी। इसके अलावा इस बार धनतेरस के दिन हनुमान जयंती भी पड़ने के कारण इस दिन का महत्व और बढ़ गया है।

धनतेरस के दिन दो विशेष योग

धनतेरस के दिन चित्रा नक्षत्र और आयुष्मान योग भी बन रहा है। इस बार धनतेरस पर मृदु और मित्र संज्ञक नक्षत्र का योग बन रहा है। और ऐसे नक्षत्र में सोना, चांदी और बर्तन खरीदने से आपको बहुत ही लाभ मिलेगा। इस योग में भगवान धनवंतरि( Dhanwantari Bhagwan) की पूजा करना बहुत फलदायी माना गया है।

भगवान विष्णु का रूप हैं धनवंतरि

धनवंतरि को भगवान विष्णु का ही एक अवतार माना जाता है. कहा जाता है कि धनतेरस के दिन भगवान धनवंतरि हाथों में अमृत से भरा कलश लेकर प्रकट हुए थे। तभी से इस दिन बर्तन खरीदने की परम्परा शुरू हो गई.

दीपक खरीदना होता है शुभ

लोहे को शनि का कारक माना जाता है इसलिए धनतेरस के दिन लोहा नहीं खरीदना चाहिए। वहीं सोने, चांदी और बर्तनों के अलावा मिट्टी के दीपक खरीदना भी आज के दिन अच्छा माना जाता है।



source https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/special-coincidence-is-being-made-on-the-festival-of-dhanteras-6512619/

Comments