Diwali 2020: दीवाली के त्यौहार से जुड़ी वो महत्वपूर्ण बातें जिनके बारे में आप भी हैं अनजान

Diwali 2020: दीवाली (Diwali 2020) का त्यौहार हमारे देश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस त्यौहार को मनाने के लिए पूरा देश दीए की रोशनी से जगमगा उठता है। लेकिन क्या आप जानते है कि दिवाली के त्यौहार से जुड़ी कुछ मान्यताएं ऐसी हैं, जिनके बारे में बहुत कम लोग ही जानते है। ज्यादातर लोगों को यही पता है कि इस त्यौहार को भगवान राम के वनवास से लौटने की खुशी में मनाते हैं।ये बात सच है, लेकिन अधूरी है. अगर ऐसा ही है तो फिर हम सब दीपावली पर भगवान राम की पूजा क्यों नहीं करते? लक्ष्मी जी और गणेश भगवान की क्यों करते हैं? आइए आपको बताते हैं कि दीवाली के त्यौहार से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य..

1. देवी लक्ष्मी जी की उत्पत्ति :

सबसे पहली बात दीवाली को मनाने की यह है कि इस दिन मां लक्ष्मी जी का जन्म हुआ था समुन्दर मंथन से मां लक्ष्मी अवतार में प्रकट हुई थीं।

2. भगवन विष्णु द्वारा लक्ष्मी जी को बचाना:

भगवन विष्णु ने इसी दिन अपने पांचवे अवतार वामन अवतार में देवी लक्ष्मी को राजा बालि से मुक्त करवाया था।

3. भगवान कृष्ण ने किया नरकासुर का वध :

इस दिन भगवान कृष्ण ने राक्षसों के राजा नरकासुर का वध कर उसके चंगुल से 16000 औरतों को मुक्त करवाया था। और इसकी वजह से वहां के लोगों नें चारों ओर दीए जलाकर खुशियां मनाई थी।

4. पांडवो की वापसी:

महाभारत में लिखे अनुसार कार्तिक अमावस्या से समय ही पांडव अपना 12 साल का वनवास काट कर हस्तिनापुर वापस लौटे थे। जो की उन्हें चौसर में कौरवों द्वारा हराये जाने के परिणाम स्वरूप मिला था। इस प्रकार उनके लौटने की खुशी में दीपावली मनाई गई थी।

5. राम जी की विजय पर

रामायण के अनुसार ये चंद्रमा के कार्तिक मास की अमावस्या से नए दिन की शुरुआत थी जब भगवान राम रावण से युद्ध जीतकर माता सीता और लक्ष्मण जी के साथ अयोध्या वापिस लौटे थे। अयोध्या के नागरिकों ने पूरे राज्य को दीपमालाओं से सजाकर उनकी स्वागत किया था।

6. विक्रमादित्य का राजतिलक:

इसी दिन भारत के महान राजा विक्रमदित्य का राज्याभिषेक हुआ था. इसी कारण दीपावली अपने आप में एक ऐतिहासिक घटना भी है।

7. आर्य समाज के लिए प्रमुख दिन:

इसी दिन कार्तिक अमावस्या को एक महान व्यक्ति स्वामी दयानंद सरस्वती जी ने हिंदुत्व का अस्तित्व बनाये रखने के लिए आर्य समाज की स्थापना की थी।

8. जैन धर्म का एक महत्वपूर्ण दिन:

महावीर तीर्थंकंर जी ने कार्तिक मास की अमावस्या के दिन ही मोक्ष प्राप्त किया था।

9. सिक्खों के लिए महत्त्व

1619 में सिक्ख गुरु हरगोबिन्द जी को ग्वालियर के किले में 52 राजाओ के साथ मुक्त किया गया था जिन्हें मुगल बादशाह जहांगीर ने नजरबन्द किया हुआ था. इसे सिक्ख समाज बंदी छोड़ दिवस के रूप में भी जानते हैं।



source https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/those-important-things-related-to-the-festival-of-diwali-6507492/

Comments